Search
  • Ujjawal Trivedi

Bollywood to face content war on OTT :डिजिटल मीडियम पर बॉलीवुड का मुकाबला किससे

बॉलीवुड फिल्मों के डिजिटल मीडियम पर रिलीज होने के सिलसिले के बाद अब एक नई लड़ाई शुरू होने जा रही है। यह लड़ाई content के स्तर पर होगी । सभी जानते हैं की बॉलीवुड फिल्मों का content और बॉलीवुड फिल्मों की कहानियां किस स्तर की होती हैं। अब जब यह फिल्में अंतरराष्ट्रीय स्तर के डिजिटल मीडियम पर दर्शकों के सामने परोसी जाएंगी तो ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह है कि जिस दर्शक के सामने एक OTT प्लेटफार्म पर दो विकल्प है पहला ये कि वो किसी अंतरराष्ट्रीय स्तर का शो देखे और दूसरा ये कि वो किसी घिसेपिटे फार्मूले पर बनी बॉलीवुड फिल्म देखे तो वो किस तरफ आकर्षित होगा। ज़ाहिर है ये नयी तरह का मुकाबला है जिसका सामना हिन्दी फिल्मो को करना होगा। अभी तक मैदान का फर्क था लेकिन अब मैदान सिमट कर एक ही रह गया है इसलिये मुकाबले से बचना असंभव है।




Content War से नहीं बच पायेगा बॉलीवुड


इससे निबटने के लिए बॉलीवुड निर्माताओं को अभी से तैयारी करनी होगी । आज जब यह साफ हो चुका है कि बॉलीवुड फिल्में फिलहाल डिजिटल मीडियम पर ही रिलीज़ होंगी तो जाहिर है उनके सामने एक नई चुनौती भी है। अगर हम सिर्फ हिंदी भाषी बाज़ार की बात करें तो ऐसे कई शो हैं जो अंग्रेजी में बने या किसी दूसरी भाषा में बने लेकिन हिंदी डब के साथ वह हिंदी दर्शकों का मनोरंजन करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। अब जबकि एक ही मैदान बचा है जिसका नाम है डिजिटल मीडियम तो ऐसे में इसकी चिंता करना जरूरी हो जाता है कि दर्शक किस तरफ का रूख करेगे।


मुझे लगता है ये तो अब बीते कल की बात हो गई जब फिल्में सिर्फ किसी बड़े सितारे के नाम पर चल जाया करती थी । डिजिटल मीडियम पर किसी सितारे का जादू तो नहीं चलेगा क्योंकि डिजिटल मीडियम का एक ही हीरो है और वह है content अगर आपके content में दम है तो आपको पसन्द किया जायेगा नही तो आपकी फिल्म किसी कोने में पड़ी रहेगी और कोई देखने नहीं आयेगा।


बॉलीवुड के लिये चुनौती पर दर्शकों का फायदा


मेरा मानना है कि फिल्म इंडस्ट्री के सामने अब दो नई तरह की चुनौतियां हैं पहला तो ये कि उन्हें अब कम लागत में फिल्में बनानी है क्योंकि फिल्में डिजिटल मीडियम पर ही रिलीज होगी और रिलीज़ होते ही दूसरी जंग होगी content के बीच मुकाबले की ।


आगे देखना मजेदार होगा कि बॉलीवुड में कहानी कहने का स्तर कौन सा नया मोड़ लेता है। किस तरह के बदलाव आते हैं । कौन-कौन से नए प्रयोग होते हैं ।


बहरहाल हिन्दी फिल्मे और शो देखने वाले दर्शकों का तो दो तरह से फायदा है पहला तो ये कि कम खर्च में ही नयी फिल्में देखने का मौका मिलेगा और दूसरा ये कि फिल्मों का content भी निर्माताओ को ऊंचे स्तर का रखना होगा।



0 views

+919223306655

©2020 by Ujjawal Trivedi. Designed and maintained by MOHD ALTAMASH