Search
  • Ujjawal Trivedi

कोरोना से नहीं चुनाव में जीतना है ज़्यादा ज़रूरी!

देश में कोरोना तेजी से फैल रहा है लेकिन राजनैतिक दलों के लिए पश्चिम बंगाल का चुनाव जीतना सबसे बड़ी प्राथमिकता है ।अब राजनीति का गंदा चेहरा आम जनता के सामने आ चुका है । इस बात की कलई खुल चुकी है कि सत्ता का नशा बार-बार राजनीति की रैलियां करने पर मजबूर कर रहा है।




हैरत की बात यह है कि कई देशों को वैक्सीन एक्सपोर्ट करने के बाद आज हमारे ही देश में बहुत से लोगों को न तो वैक्सीन मिल पा रही है और ना ही समय पर ऑक्सीजन का सिलेंडर मिल रहा है फिर भी चुनावी रैलियां अपने तय समय पर हो रही है वो भी ज्यादा से ज्यादा भीड़ के साथ । लाखो लोगों को जान खतरे में डाली जा रही हैं और इस पर सवाल उठाने वाला कोई नहीं है।


सवाल उठाएगा भी तो कौन ? हमारे देश में मीडिया पहले ही अपनी विश्वसनीयता खो चुका है ।आम आदमी आंखों पर पट्टी बांधे अंधकारमय भविष्य की तरफ चला जा रहा है। यह समय सवाल पूछने का है क्योकि आप टैक्स देते हैं। इस देश को अपनी मेहनत के पैसे से बनाते हैं। तो सवाल पूछने का हक भी आपको ही है ।


अपनी जिम्मेदारी समझिए । आप देश हैं । आप देश की जनता हैं । आपसे भारत की पहचान है और अगर कोई इस देश की जनता के साथ खिलवाड़ कर रहा है कि आपका फर्ज बनता है कि आप यह बताएं कि आप मूर्ख नहीं हैं ।


अगर आप स्वयं को मूर्ख समझते हैं तो फिर होने दीजिए जो आपके साथ हो रहा है अगर आप शिकायत करना चाहते हैं तो पहले सवाल पूछना सीखिए सिर्फ शिकायत करने से काम नहीं चलेगा आपको अपनी जिम्मेदारी भी समझनी होगी ।



कोरोना से आपको अपना अपने परिवार का, अपने पास पड़ोस का बचाव करना है। राजनेताओं से सवाल पूछना हैं कि क्या आप के लिए चुनाव सबसे जरूरी विषय है। क्या अस्पतालों और डॉक्टरों के अभाव में दम तोड़ती जनता की जान की कीमत कुछ भी नहीं।


आज हम इस मुकाम पर खड़े हैं जब हमको यह समझ में आ चुका है कि अस्पताल की अहमियत किसी भी धार्मिक स्थल से कहीं ज्यादा होती है। इंसानियत से बड़ा कोई धर्म नहीं और स्वास्थ्य अच्छा रहे इससे बड़ा कोई सुख नहीं।


कुछ लोग सत्ता के मद में चूर हैं लेकिन यह नहीं जानते कि एक बीमार देश की सत्ता हाथ में आने के बाद वो कर भी क्या पाएंगे । किसी को चुनाव जिताने के लिए इतने मतिहीन ना हो जाइए की आने वाली पीढ़ियां आपको सवालिया नजरों से देखें।


इस पर सोचिए और फिर अपनी राय जाहिर कीजिए मुझे आपकी राय जानने का इंतजार रहेगा।

145 views