2 दिसंबर की वो त्रासदी जिसने छीन ली हजारों जान, इसलिए मनाया जाता है राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस



Updated: 02 December, 2022 9:40 am IST

2 और 3 दिसंबर की रात इतिहास का वो काला पन्ना जिसका असर आज भी लोगों के जीवन पर दिखाई देता है। इस मनहूस रात ने ना जाने कितने लोगों की जान ले ली और अनगिनत लोग ऐसे हैं जो आज भी बेदर्द निशानियों के साथ जी रहे हैं। 1984 की इस रात को अपनी जान गंवाने वाले लोगों की याद में हर साल राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस मनाया जाता है।

2 और 3 दिसंबर की रात को भोपाल में गैस रिसाव की भयानक त्रासदी हुई थी। यूनियन कार्बाइड इंडिया लिमिटेड की कीटनाशक इकाई के एक टैंक से जहरीली गैस का रिसाव होने की वजह से लाखों लोगों की जान मुसीबत में आ गई थी। मिथाइल आइसोसाइनेट नाम की इस जहरीली गैस ने कुछ ही घंटे में पूरे वातावरण को जहरीला बना दिया था। ये गैस हवा के साथ फैलती जा रही थी और जो लोग इसके आगोश से बाहर नहीं निकल पाए उन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया। मौत से बचे हजारों लोग सास की गंभीर बीमारी से पीड़ित हो गए। आज भी इस हादसे का शिकार हुए लोग उस भयावह रात के बारे में सोच कर सिहर उठते हैं।

देश और दुनिया में प्रदूषण का स्तर किस कदर बढ़ता जा रहा है इस बात से तो हम सभी वाकिफ
हैं। प्रदूषण को नियंत्रित करने के
लिए सभी जगह अलग-अलग तरह के उपाय किए जा रहे है। राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस पर सरकारी एजेंसियों द्वारा प्रदूषण और प्रकृति के मानव प्रेरित विषय पर सेमिनार आयोजित किए जाते हैं। लोगों को प्रदूषण करने के लिए अपनाए जाने वाले तरीकों की जानकारी दी जाती है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा समय समय पर उचित कदम उठाकर प्रदूषण के स्तर को कम करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड

1974 में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की स्थापना की गई थी। 1981 में इसे प्रदूषण निवारण और नियंत्रण की शक्तियां सौंपी गई। इसके मुख्य काम जल अधिनियम 1974 और वायु अधिनियम 1981 में व्यक्त किए गए हैं। भारत में नई दिल्ली में केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का ऑफिस स्थित है। तन्मय कुमार अध्यक्ष के रूप में फिलहाल इस बोर्ड की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। ये एजेंसी केंद्र सरकार को जल और वायु प्रदूषण रोकने और नियंत्रित करने की सलाह देती है। केंद्र शासित प्रदेशों को सलाह देने के साथ ये पर्यावरण प्रदूषण से जुड़े रोकथाम और नियंत्रण संबंधित कानूनों के क्रियान्वयन के लिए भी जिम्मेदार है।

Also Read Story

बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाने के तैयार हैं Fukrey 3, इस दिन रिलीज होगी फिल्म

Bigg Boss ने छीने घर वालों से कमरे, जमकर मचा बवाल

Priyanka Chahar Choudhary को भारी पड़ सकती है एक गलती, सोशल मीडिया पर हुई ट्रोल

रिलीज होते ही Pathaan को लगा झटका, ऑनलाइन लीक हुई फिल्म