गुजरात चुनाव के पहले चरण में इन 10 चेहरों का दबदबा, रविन्द्र जडेजा की पत्नी भी शामिल



Updated: 01 December, 2022 4:37 pm IST

गुजरात में आज विधानसभा के पहले चरण की शुरुआत हो गई है। पहले चरण के मतदान में बड़ी संख्या में लोग वोटिंग करने के लिए पहुंचे। लगभग 19 सीटों पर वोटिंग हो रही है और कई बड़े नामों पर दांव खेला जा रहा है। इसमें रविंद्र जडेजा की पत्नी रीवाबा जडेजा, विधायक कुंवरजी बावलीया, कांतिलाल अमृतिया समेत 10 चेहरे चुनावी मैदान में दिखाई दे रहे हैं।

रिवाबा जडेजा

चुनाव में जो चेहरा सबसे ज्यादा सुर्खियों में आया वह है क्रिकेटर रविंद्र जडेजा की पत्नी रीवाबा। भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें उत्तर जामनगर से चुनावी मैदान में उतारा है। उनका पहला चुनाव है इससे पहले उनका कोई राजनीतिक अनुभव नहीं रहा है।

कांतिलाल अमृतिया

मोरबी में जब पुल हादसा हुआ था उसके बाद कहा जा रहा था कि भाजपा की हार तय है। लेकिन इस हादसे में कांतिलाल नायक बनकर सामने आए और भाजपा कड़ी टक्कर के साथ मैदान में उतरी। कांतिलाल मोरबी से 5 बार विधायक रह चुके हैं लेकिन 2017 के चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। मोरबी हादसे में वह चर्चा में इसलिए रहे क्योंकि उन्होंने नदी में कूदकर लोगों की जान बचाई थी। यही वजह रही कि भाजपा ने उन्हें टिकट दिया।

गोपाल इटालिया

गुजरात चुनाव की घोषणा के बाद गोपाल इटालिया लगातार चर्चा में हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बयानबाजी के चलते भी उन्होंने खूब सुर्खियां बटोरी थी। आम आदमी पार्टी ने उन्हें सूरत की कटारगाम सीट से चुनावी मैदान में उतारा है।

बाबु बोखिरिया

पहले चरण के चुनाव में बाबु बोखिरिया एक बड़ा नाम माने जा रहे हैं। 1995, 1998, 2012 और 2017 में वह जीत अपने नाम कर चुके हैं। भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें पोरबंदर विधानसभा सीट से मैदान में उतारा है।

कुंवरजी बावलीया

ये कांग्रेस के पूर्व वरिष्ठ नेता है और छह बार विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज कर चुके हैं। इस बार ये भाजपा की ओर से चुनावी मैदान में उतरे हैं। साल 2017 में चुनाव जीत कर इन्होंने कांग्रेस को छोड़ भाजपा का दामन थाम लिया था।

भगवान बराड

कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने के दूसरे दिन ही भगवान बराड को टिकट दे दिया गया था। वह अहिर समाज से आते हैं और काफी प्रभावशाली नेता है।

परषोत्तम सोलंकी

परषोत्तम गुजरात भाजपा का बड़ा नाम है। इस बात का अंदाजा तभी हो गया था जब भाजपा ने एक परिवार एक टिकट के नियम को उनके लिए दरकिनार किया था। भाजपा ने उन्हें भावनगर ग्रामीण से चुनावी मैदान में उतारा है।

परेश धनानी

परेश अमरेली से चुनावी मैदान में उतरे हैं उन्होंने 2002 में बीजेपी के बड़े नेता पुरुषोत्तम रुपाला को करारी शिकस्त दी थी।

अल्पेश कथिरिया

अल्पेश, पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के सहयोगी हैं और आम आदमी पार्टी ने उन्हें सूरत की वराछा सीट से टिकट दिया है।

ahmedabad-politics,Gujarat Election 2022 Election, Gujarat assembly Election 2022, gujarat vidhan sabha chunav 2022

अमरेली की लाठी सीट से कांग्रेस ने विधायक विरजी को चुनाव में उतारा है। वह कांग्रेस के एक नामी चेहरे हैं जो लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज कर चुके हैं।

Also Read Story

बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाने के तैयार हैं Fukrey 3, इस दिन रिलीज होगी फिल्म

Bigg Boss ने छीने घर वालों से कमरे, जमकर मचा बवाल

Priyanka Chahar Choudhary को भारी पड़ सकती है एक गलती, सोशल मीडिया पर हुई ट्रोल

रिलीज होते ही Pathaan को लगा झटका, ऑनलाइन लीक हुई फिल्म