वर्दी में वीडियो बनाने वाली सिपाही प्रियंका बर्खास्त, क्या इसके लिए चुलबुल पांडे हैं जिम्मेदार?



Updated: 23 September, 2021 2:42 pm IST

उत्तर प्रदेश के आगरा में पोस्टेड सिपाही प्रियंका मिश्रा को इस्तीफा देना पड़ा। इस्तीफा देने की वजह यह थी कि उन्होंने पुलिस की वर्दी में रहते हुए थाने के अंदर बैठकर रिवॉल्वर दिखाते हुए वीडियोज बनाए और उन्हें अपने इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया। जिसके बाद वह सुर्खियों में आ गई थी। इस्तीफा देना पड़ा, इस्तीफा मंजूर हो गया, नौकरी चली गई, जो नौकरी उन्हें साल भर पहले ही मिली थी। जो भी हुआ, अच्छा ही हुआ। इसी तरह से सबक सिखाए जाने की भी जरूरत होती है, लेकिन एक सवाल यहां पर बहुत बड़ा है। सवाल यह कि जब फिल्मी परदे पर चुलबुल पांडे सिटी बजाते हैं, मुन्नी बदनाम हुई पर डांस करते हैं और फिल्मों में तमाम ऐसी कहानियां दिखाई जाती हैं, जहां पर वर्दी पहने हुए हमारे बहुत से तथाकथित हीरो डांस करते हैं, ऐसी हरकतें करते हैं जो वर्दी की शान तो बिलकुल नहीं बढ़ाती। तो क्या ऐसे लोगों के खिलाफ भी कोई एक्शन होना चाहिए क्योंकि प्रियंका मिश्रा ने जो किया वह वाकई वर्दी की शान पर दाग लगाने का काम किया था।

आप पुलिस महकमे में हैं, तो लोगों को आपसे उम्मीदें रहती हैं। लोग आप पर भरोसा और विश्वास करते हैं। ऐसे में आप थाने के अंदर बैठकर, रिवॉल्वर हाथ मे लहराते हुए वीडियो बनाएंगी और सोशल मीडिया पर पोस्ट करेंगी, तो निश्चित तौर पर सवालिया निशान तो लगेंगे ही। प्रियंका को अपनी करनी का फल भी भुगतना पड़ा लेकिन उन लोगों को सबक कौन सिखाएगा, जो ऐसी फिल्में बनाते हैं और इनडायरेक्टली ऐसे कामों को बढ़ावा देने का काम करते हैं। यह बहस इसलिए भी जरूरी है क्योंकि सभी जानते हैं कि हमारी सोसायटी में फिल्में एक ऐसे नजरिए से देखी जाती है, जिसमें फिल्मों में काम करने वालों को रोल मॉडल के तौर पर देखा जाता है। लोग उनके जैसा बनना चाहते हैं। उनको देखकर सीखते हैं, उनकी नकल करते हैं, उन्हें कॉपी करते हैं और चाहते हैं कि ये लोग जो परदे पर कर रहे हैं वह उसे अपनी असल जिंदगी में करें क्योंकि इतने ग्लैमरस तरीके से सब कुछ पेश किया जाता है। तो क्या फिल्म मेकर्स की यह जिम्मेदारी नही बनती कि वह वरदी की मान-मर्यादा रखते हुए अपनी कहानियां बनाएं।

क्या जरूरी है कि वर्दी पहने ‘कागजी हीरो’ को इस तरह नाचते हुए दिखाना, जिससे समाज में इस तरह की घटनाएं बढ़ें। पहली बात तो यह कि वह भी एक तरह से वर्दी का अपमान ही है क्योंकि आपने पुलिस की वर्दी पहनाई है और फिर आप नाच नचा रहे हैं। उल्टे-सीधे गाने के बोल उनके मुंह से आ रहे हैं और फिर इसको देखकर यूथ क्या सीखता है। ये जो प्रियंका मिश्रा हैं, जिन्हें रिजाइन करना पड़ा, इन्होंने भी ऐसी ही फिल्में देखी होंगी। पुलिस की नौकरी मिलने से पहले उन्होंने फिल्मों में इसी तरह से सब देखा होगा। वर्दी पहने लोगों को डांस करते हुए, तो उन्हें लगा होगा कि वह भी कर सकती हैं और उन्होंने वही किया। फिर क्या हुआ। न सिर्फ वर्दी की शान पर सवाल आया बल्कि उनकी नौकरी भी हाथ से गई और वह लोगों के सामने हंसी की पात्र बन गई। तो बहुत जरूरी होता है, इस बात पर नजर रखना कि हमारे देश में प्रदर्शित होने वाली फिल्मों में वर्दी किस तरह से प्रेजेंट की जाती है।

Also Read Story

Heeramandi में नजर आएंगे बॉलीवुड के ये खूबसूरत नगीने, सामने आया फर्स्ट लुक

Bigg Boss ने छीने घर वालों से कमरे, जमकर मचा बवाल

Priyanka Chahar Choudhary को भारी पड़ सकती है एक गलती, सोशल मीडिया पर हुई ट्रोल

बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाने के तैयार हैं Fukrey 3, इस दिन रिलीज होगी फिल्म